test
रविवार, जून 16, 2024
होमरिपोर्टकृषि बिल के विरोध में संसद से सड़कों तक प्रदर्शन: प्रदर्शनों...

कृषि बिल के विरोध में संसद से सड़कों तक प्रदर्शन: प्रदर्शनों के बीच राज्यसभा में कृषि बिल पास

-

इंडिया टुमारो

नई दिल्ली | रविवार को पंजाब और हरियाणा में कृषि बिल के विरोध में किसानों का भारी प्रदर्शन देखने को मिला. संसद से सड़कों तक प्रदर्शन कृषि बिल के विरोध के गवाह बने. संसद में बिल फाड़ कर विरोध जताया गया तो सड़कों पर किसानों ने हज़ारों की संख्या में रोड ब्लाक कर विरोध किया. हालाँकि भारी विरोध के बावजूद कृषि बिल राज्यसभा में पास हो गए.

राज्यसभा में कृषि बिल पेश किए जाने के बाद सांसदों का भारी हंगामा देखने को मिला. तृणमूल के संसद में सभापति की कुर्सी के नज़दीक जाकर बिल फाड़ कर विरोध जताया.

साथ ही विपक्षी पार्टियों के सांसदों ने गाँधी प्रतिमा के पास प्रदर्शन कर कृषि बिल का विरोध जताया.

लोकसभा में पास हो जाने के बाद रविवार को राज्‍ससभा में भी कृषि से जुड़े तीन विधेयक पेश किए गए.

काँग्रेस के राज्यसभा सांसद अहमद पटेल ने बिल पास होने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कहा, “जिस तरह से ये बिल पारित किए गए हैं यह दिन इतिहास में ‘काले दिन’ के रूप में याद किया जाएगा. लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं के खिलाफ जाकर लोकतंत्र की हत्या की गई है. 12 विपक्षी दलों ने राज्यसभा के उप सभापति के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया है.”

हरियाणा में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने अम्बाला के सादोपुर बॉर्डर पर कृषि बिल के विरोध में एक ट्रेक्टर को आग लगा दी.

हरियाणा में भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में कुरुक्षेत्र में 3 घंटे तक किसानों ने राज्यमार्ग जाम किया.उन्होंने कहा कि यह प्रतीकात्मक प्रदर्शन था. अगर सरकार हमारी मांगों को नहीं मानी तो 25 सितंबर को हरियाणा बंद करेंगे. साथ ही 27 सितंबर को दिल्ली में मीटिंग कर देशव्यापी प्रदर्शन की रूप रेखा तैयार करेंगे.

इस बीच पंजाब से बड़ी संख्या में किसान दिल्ली की तरफ निकले, जिन्हें हरियाणा के कई संगठनों का समर्थन हासिल रहा. हालांकि पुलिस भी पूरी तरह सक्रीय रही और अंबाला बॉर्डर से लेकर राजधानी दिल्ली तक सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई.

कृषि बिल के खिलाफ किसानों चंडीगढ़ से दिल्ली तक ट्रैक्टर रैली निकालने की कोशिश की. जीरकपुर में नैशनल हाइवे के पास बड़ी संख्या में किसान इकट्ठा हुए. प्रशासन ने किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए करनाल हाइवे को ब्लॉक कर दिया.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार, हरियाणा में अंबाला रेंज के आईजी वाई. पूरन कुमार ने बताया कि प्रदेश में किसानों के 16-17 संगठनों ने प्रदर्शन में हिस्सा लेने की अपील को देखते हुए कानून-व्यवस्था को बिगड़ने नहीं देने की व्यवस्था की गई है और सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दिया गया है.

दिल्ली बॉर्डर पर भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है. पड़ोसी राज्यों में प्रदर्शन को लेकर दिल्ली पुलिस अलर्ट पर है. हरियाणा की सीमा के साथ ही अशोक नगर-गाजीपुर सीमा पर भी सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई.

कृषि विधेयकों के पारित होने पर पीएम मोदी ने कहा कि भारत के कृषि इतिहास में आज एक बड़ा दिन है.

उन्होंने ट्विट कर कहा, ‘भारत के कृषि इतिहास में आज एक बड़ा दिन है। संसद में अहम विधेयकों के पारित होने पर मैं अपने परिश्रमी अन्नदाताओं को बधाई देता हूं। यह न केवल कृषि क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन लाएगा, बल्कि इससे करोड़ों किसान सशक्त होंगे।’

Donate

Related articles

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest posts